पृष्ठ

बुधवार, अक्तूबर 5

Effigies of Ravan.....सज गयी है रावण मंडी!

















6 टिप्‍पणियां:

  1. आपको, परिजनों तथा मित्रों को दीपावली पर मंगलकामनायें! ईश्वर की कृपा आपपर बनी रहे।

    ********************
    साल की सबसे अंधेरी रात में*
    दीप इक जलता हुआ बस हाथ में
    लेकर चलें करने धरा ज्योतिर्मयी

    बन्द कर खाते बुरी बातों के हम
    भूल कर के घाव उन घातों के हम
    समझें सभी तकरार को बीती हुई

    कड़वाहटों को छोड़ कर पीछे कहीं
    अपना-पराया भूल कर झगडे सभी
    प्रेम की गढ लें इमारत इक नई
    ********************

    उत्तर देंहटाएं
  2. आज के भ्रष्ट नेता कौन से इन रावण से कम है?

    उत्तर देंहटाएं

Follow by Email